Karwa Chauth 2018 Date: 27th October 2018, Saturday

“स्वगणे चोत्त्मा प्रीतिः स्यान्नर देवयोहः । असुरा मर्योर्वैरम मृतुर्मानुष राक्षसोह । । — — ग्रहस्त जीवन परस्पर प्रेम और विश्वास के धागे से मजबूती से बंधा होना चाहिए अन्यथा जीवन जीना दुर्लभ हो जाता है ।

गृहस्थ जीवन में कई तरह की परेशानियों का सामना प्रत्येक दम्पति को करना ही पडता है। समझदारी तथा सहनशीलता पूर्ण कार्य करने से इनका निराकरण करना आसान होता है। धन-दौलत तो कोई भी कमा सकता है, किंतु दाम्पत्य जीवन में शांति-समृध्दि कीर्ति का खजाना
केवल भारतीय संस्कृति में ही पाया जा सकता है। हमारी संस्कृति में पति-पत्नी का रिश्ता ना केवल अटूट बल्कि जन्म-जन्मांतर का बंधना माना गया है।

Karwa Chauth

हिन्दू संस्कृति में स्त्रियों का ऐसा 1 त्यौहार है जिसे वो पूरा दिन भूखा प्यासा रहकर अपने पति की लम्बी आयु और अपने परिवार की सुखशांति के लिए करती है और उसे त्यौहार का नाम है करवाचौथ |

शास्त्रों के अनुसार यह व्रत कार्तिक मास के कृष्णपक्ष की चतुर्थी को किया जाता है | करवाचौथ के व्रत में चन्द्रमा की पूजा का विधान है क्योंकि शास्त्रों में चन्द्रमा को ईश्वर का मन कहा गया है और ईश्वर कभी किसी से भेदभाव नहीं करता | इस दिन रिद्धि सिद्धि के स्वामी सब कष्टो
को हरने वाले श्री गणेश जी की पूजा का भी विधान है |

सब व्रतो की तरह यह व्रत भी सही विधि विधान के साथ किया जाना चाहिए ताकि सुहागनों को ईश्वर से सौभाग्यवती रहने का आशीर्वाद प्राप्त हो सके |

करवा चौथ पूजन विधि

सूर्योदय से पहले सो कर उठ जाये और सास द्वारा भेजी गई सरगी खाएं। सरगी में , मिठाई, फल, सेंवई, पूड़ी और साज-श्रंगार का समान दिया जाता है। इस दिन प्याज, लहसन आदि से परेहज करे |

इस के पश्चात प्रातः स्नानादि करने के पश्चात यह संकल्प बोलकर करवा चौथ व्रत का आरंभ करें-प्रातः पूजा के समय इस मन्त्र के जप से व्रत प्रारंभ किया जाता है- ‘मम सुखसौभाग्य पुत्रपौत्रादि सुस्थिर श्री प्राप्तये करक चतुर्थी व्रतमहं करिष्ये। ‘

घर के मंदिर की दीवार पर गेरू से फलक बनाकर चावलों को पीसे। फिर इस घोल से करवा चित्रित करें। इस रीती को करवा धरना कहा जाता है।

शाम के समय, माँ पार्वती की प्रतिमा की गोद में श्रीगणेश को विराजमान कर उन्हें लकड़ी के आसार पर बिठाए।

माँ पार्वती का सुहाग सामग्री आदि से श्रृंगार करें।
भगवान शिव और माँ पार्वती की आराधना करें और कोरे करवे में पानी भरकर पूजा करें।
सौभाग्यवती स्त्रियां पूरे दिन का व्रत कर व्रत की कथा का श्रवण करें।
सायं काल में चंद्रमा के दर्शन करने के बाद ही पति द्वारा अन्न एवं जल ग्रहण करें।
पति, सास-ससुर सब का आशीर्वाद लेकर व्रत को समाप्त करें।

करवाचौथ के दिन सास या घर की किसी बड़ी औरत को बायना अर्थार्थ गिफ्ट देने का रिवाज होता है|

हमारे जीवन में अंको का बहुत अधिक महत्व है क्योंकि जो जातक जिस तारीख को पैदा होता है वो तारीख उसे इंसान के जीवन का इम्पोर्टेन्ट भाग बन जाता है |

इस करवाचौथ पर हम आप को आप की जन्म तिथि के हिसाब से बताएँगे की कौन सी तारीख को जन्मी महिला को इस बार अपनी सासु माँ या घर की किसी बड़ी औरतको क्या गिफ्ट देना चाहिए |

मूलांक 1: जो भी महिला किसी भी महीने की 1,10,19 ya 28 तारीख को जन्मी है उनका मूलांक 1 होता है . इस मूलांक के लोग सकरात्मक सोच वाले , थोड़े से इगोस्टिक, नेतृत्व की क्षमता रखने वाले होते है. मूलांक 1 के लोग अपने बड़े को सोना , सोना ना खरीद पाए पाए तो पिता से बानी हुई चीज़े या सुनहले रंग का कोई वस्त्र गिफ्ट करे |

मूलांक 2: जो भी महिला किसी भी महीने की 2,11,20 ya 29 तारीख को जन्मी है उनका मूलांक 2 होता है . इस मूलांक की महिलाये भावुक और कल्पनाओ में रहने वाली होती है | मूलांक 2 की महिलाओ को अपने बड़े को करवाचौथ पर चांदी या स्टील, सफ़ेद कपडे या कोई भी सफ़ेद चीज़ गिफ्ट में देनी चाहिए |

मूलांक 3: जो भी महिला किसी भी महीने की 3,12,21 या 30 तारीख को जन्मी है उनका मूलांक 3 होता है | इस मूलांक को त्रिआयामी भी कहते है जो की चिन्ह है साहस, शक्ति और दृढ़ता का | मूलांक 3 की महिलाओ को अपने बड़े को करवाचौथ पर गोल्ड या पीतल , पिले कपडे या कोई भी पिली चीज़ गिफ्ट में देनी चाहिए |

मूलांक 4: जो भी महिला किसी भी महीने की 4,13, 22 या 31 तारीख को जन्मी है उनका मूलांक 4 होता है . इस मूलांक की लोग धार्मिक, बुद्धिमान होते है | मूलांक 4 की महिलाओ को अपने बड़े को करवाचौथ पर चांदी, शीशा या उनसे पूछ की उनकी पसंद की कोई चीज़ उन्हे गिफ्ट में देनी चाहिए |

मूलांक 5: जो भी महिला किसी भी महीने की 5,14 या 23 तारीख को जन्मी है उनका मूलांक 5 होता है . इस मूलांक के लोग किसी के सामने झुकते नहीं है | इनके जीवन का सबसे बड़ा गुण है दूसरो का दिल जीतने की कला | मूलांक 5 की महिलाओ को अपने बड़े को करवाचौथ पर हरे रंग की चुडिया, हरे रंग के कपडे या हरे रंग की कोई चीज़ उन्हे गिफ्ट में देनी चाहिए |

मूलांक 6: जो भी महिला किसी भी महीने की 6,15 या 24 तारीख को जन्मी है उनका मूलांक 6 होता है . इस मूलांक के लोग हसमुख और काफी कलात्मक होते hai | मूलांक 6 की महिलाओ को अपने बड़े को करवाचौथ पर प्लैटिनम या गुलाबी रंग की कोई चीज़ उन्हे गिफ्ट में देनी चाहिए |

मूलांक 7: जो भी महिला किसी भी महीने की 7,16 या 25 तारीख को जन्मी है उनका मूलांक 7 होता है . इस मूलांक के लोग अपने काम में निपुण, धैर्यवान होते है | मूलांक 7 की महिलाओ को अपने बड़े को करवाचौथ पर सप्तधातु से बनी कोई चीज़ या ऑरेंज रंग की कोई साड़ी या चीज़ उन्हे गिफ्ट में देनी चाहिए |

मूलांक 8: जो भी महिला किसी भी महीने की 8 , 17 या 26 तारीख को जन्मी है उनका मूलांक 8 होता है . इस मूलांक के लोग बहुत ही न्यायपसंद होते है और हमेशा कुछ ना कुछ नया करने में लगे रहते है | मूलांक 8 की महिलाओ को अपने बड़े को करवाचौथ पर चांदी या बैंगनी रंग की चीज़ उन्हे गिफ्ट में देनी चाहिए |

मूलांक 9: जो भी महिला किसी भी महीने की 9,18 या 27 तारीख को जन्मी है उनका मूलांक 9 होता है . इस मूलांक के लोग साहसी, गुस्सैल होते है | इन्हे चुनौतियां लेना पसंद होते है | मूलांक 9 की महिलाओ को अपने बड़े को करवाचौथ पर gold या लाल रंग की चीज़ उन्हे गिफ्ट में देनी चाहिए |

Image Source: Wikipedia

Facebook Comments