Diwali Puja Muhurat

हर कोई ज़िन्दगी में सफलता हासिल करना चाहते है, जीवन में आगे बढ़ना चाहते है | आप भी जब किसी कार्य की शुरुआत करने के बारे में सोचते हैं तो चाहते है की वो किसी ऐसे समय में शुरू हो जब हमे उसमें सफलता मिलने के चान्सेस अत्यधिक से अत्यधिक हो |

उस समय को जिसे ज्योतिष्य भाषा में मुहूर्त कहा जाता है लोग जानने के लिए ज्योतिष्यो के पास जाते है | मुहूर्त को स्वनिर्मित प्रारब्ध कहा जाता है इसलिए कहते है की यदि सही ग्रह नक्षत्र में किसी काम को किया जाये तो सफलता निश्चित है |

दिवाली हिंदुओं के मुख्य त्यौहारों में से एक है और इस दिन माँ लक्ष्मी की पूजा का विधान है | यदि हम सही मुहूर्त पर माँ लक्ष्मी की पूजा करे तो हमे उनका अधिक से अधिक आशीर्वाद मिल सकता है |

इस साल दिवाली पर माता लक्ष्मी के पूजन के लिए दिन भर में जो शुभ मुहर्त है वो इस प्रकार है| 07 नवंबर 2018 को सुबह 05:50 बजे से 07.42 वृश्चिक लग्न, दोपहर 3 बजे से 4 बजे तक कुम्भ लग्न , संध्या काल में 5.57 से 7.53 तक वृष लग्न में और अर्ध रात्रि को सिंह लग्न में 24.28 से 26.45 बजे तक है |

वृश्चिक , कुम्भ , वृष और सिंह लग्न स्थिर लग्नो में माने जाते है और शास्त्रों में लिखा गया है की स्थिर लग्नो में जो भी कार्य किया जाता है उनमें में हमारी इच्छा अवश्य पूर्ण हो जाती है |

Explore all Diwali related products here

Facebook Comments